Another Gyanvapi Case: कर्नाटक के मंगलुरु की चर्चित मलाली जुमा मस्जिद में धारा 144 लागू ,

By YOGESHWARI

NATIONAL  | 12:00:00 AM

title

DELH:

उत्तर प्रदेश के ज्ञानवापी मस्जिद विवाद के बाद अब कर्नाटक में मलाली मस्जिद विवाद तूल पकड़ रहा है। मंगलुरु की चर्चित मलाली जुमा मस्जिद के आसपास के इलाके में स्थानीय प्रशासन ने गुरुवार तक के लिए धारा 144 लागू कर दी। क्षेत्र में मस्जिद के 500 मीटर के क्षेत्र में 24 मई की रात 8 बजे से 26 मई की सुबह तक प्रतिबंधात्मक आदेश लागू रहेगा।

जुमा मस्जिद इलाके में भीड़ जमा होने पर रोक लगाई गई है। मंगलुरु प्रशासन ने क्षेत्र में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए यह कदम उठाया है। इसके साथ ही क्षेत्र में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। 

इस बीच, मलाली में श्री रामंजनेय भजन मंदिर में विहिप और बजरंग दल ने 'तांबुल प्राशन' किया। कहा जा रहा है कि मंगलुरु के बाहरी इलाके में स्थित पुरानी जुमा मस्जिद में 21 अप्रैल को हिंदू मंदिर जैसा वास्तु शिल्प मिला है। बताया गया है कि मस्जिद के जीर्णोद्धार के दौरान मंदिर जैसे प्रमाण मिले हैं। यह जीर्णोद्धार मस्जिद कमेटी द्वारा कराया जा रहा है। 

विहिप व बजरंग दल द्वारा तांबुल प्राशन कराए जाने पर कर्नाटक के गृह मंत्री अरगा ज्ञानेंद्र ने कहा कि जिला प्रशासन हालात पर नजर रखे हुए है। मस्जिद के आसपास के क्षेत्र में धारा 144 लगा दी गई है। 

भाजपा की मांग सर्वे कराया जाए, कोर्ट ने रोका जीर्णोद्धार

उधर, भाजपा ने जुमा मस्जिद का एएसआई से सर्वे कराने की मांग की है। इस बीच, स्थानीय कोर्ट ने मस्जिद के जीर्णोद्धार का काम रुकवा दिया है। मस्जिद के एक हिस्से को पहले गिरा दिया गया था। 21 अप्रैल को जब मलबा हटाया गया तो वहां हिंदू मंदिर का शिल्प मिला। विहिप इस मंदिर बताकर उसे सौंपने की मांग कर रहा है। 

देश की हर मस्जिद का सर्वे हो - विधायक शेट्टी

भाजपा विधायक भारत शेट्टी ने मांग की कि हिंदुओं के पास छिपाने के लिए कुछ नहीं है। अब देश की हर मस्जिद का सर्वे होना चाहिए। वे कहते हैं कि ज्यादातर मस्जिदें मंदिर के ऊपर ही बनाई गई हैं। हमारे पास छिपाने के लिए कुछ नहीं है, लेकिन हर बार मुस्लिमों का धर्मस्थल कानून 1991 की आड़ लेना उचित नहीं है। 

भाजपा फैला रही नफरत - शिवकुमार

कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार ने कहा है कि भाजपा कर्नाटक का नाम खराब कर रही है। मंगलुरु निवेश के लिए उपयुक्त जगह है, ये विवाद व्यापार पर गलत असर डालेंगे।

#NATIONAL
WhatsApp      Gmail